तेरी “काबिलियत” तुझको,
फलक की बुलँदियों तक पहुँचायेगी,

कदम तो बढ़ा,कदम तो उठा ऐ बंदे,
वर्ना तेरी तकदीर जमीं तक ही रह जायेगी।

#सरितासृजना

Advertisements