हाय ,ये क्या हम खुलेआम कर बैठे

इक संंगदिल से हम तो प्यार कर बैठे।

अब क्या जवाब दे हम अपनी राहतोंं को

अनजाने मेंं “सरिता”ये क्या हम गुनाह कर बैठे।

#सरितासृृजना

Advertisements