तेरे लफ्जोंं मेंं तेरी तनहाई नजर आई है

उसका भी तो जिक्र कर जिसने तेरी आँँखोंं की नींंद चुराई है

#सरितासृृजना

Advertisements